Monday, April 30, 2018

शख्सियत

मैं   देखता  रहा  उस  जनाजे  को  देर  तक
होने को  जा  रही  थी  नष्ट  वही शख्सियत
जिसके नुमाया होने से दुनिया थी मुस्कुरायी
कन्धों पे जा रहा है 'जय' चुपचाप  बेहरकत

नुमाया होने = प्रकट होने/ सामने आने