Loading...

Sunday, October 20, 2013

अभिव्यक्ति



हम आसमां से सितारे तोड़ते नहीं कभी
हम पर्वतों के शीश पर चढ़ते नहीं कभी
हमने दिलों में फूल खिलाये हैं'जय'सदा
दामन में तारे,चोटियाँ क़दमों में हैं सभी